समाज में बढ़ते हुए अपराधिक गतिविधियों पर संपादक को पत्र लिखना सीखें।

नमस्ते दोस्तों! Howtosawal.Com पर आपका स्वागत है, आज के इस लेख में हम सीखेंगे "समाज में बढ़ती हुई अपराधिक गतिविधियों पर संपादक को पत्र कैसे लिखा जाता है।



(अपना नाम लिखें)
(अपना पता लिखें)
दिनांक : __/__/__/

सेवा में, 
          श्रीमान संपादक महोदय,
          (समाचार पत्र का नाम, पता)

विषय : समाज की सुरक्षा हेतु।

महोदय,
           मैं आपके प्रतिष्ठित समाचार पत्र का नियमित पाठक हूं। इसी कारण मैं आपके समाचार पत्र के माध्यम से समाज की सुरक्षा हेतु कानून-व्यवस्था की बिगड़ती हालातों के प्रति प्रशासन एवं उससे संबंधित अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूं। आशा करता हूं कि आप इसे अपने समाचार पत्र में उचित स्थान देने की कृपा करेंगे।

संपादक महोदय, (शहर का नाम लिखें) की सारी जनता यह समझने लगी है कि, कानून एवं उनके व्यवस्थाओं की हालत दिनोंदिन खराब होती जा रही है, क्योंकि इस शहर में कई दिनों से चारों ओर असामाजिक तत्वों का बोलबाला बढ़ता ही जा रहा है। यहां लोगों को अपनी जान - माल की कोई सुरक्षा प्रतीत नहीं हो रही है। रात के समय लोगों की घरों से चोरी होने के साथ - साथ इस शहर में दिनदहाड़े अपराध के मामले सामने आते जा रहे हैं, राह चलती महिलाओं के आभूषण छिनना, छात्राओं के साथ अभद्र व्यवहार करना, मुसाफिरों एवं शहर में नए लोगों को लूट लेना सामान्य घटनाएं हो गई है। 

वर्तमान समय में यहां के लोगों को असुरक्षा और भय की भावनाओं के साथ जीना पड़ रहा है। अतः मैं सरकार एवं कार्यरत प्रशासन अधिकारियों से अनुरोध करता हूं कि लोगों के मन से सुरक्षा और भय की भावना दूर करने के लिए इस दिशा में उचित कार्यवाही की जाए। पुलिस प्रशासन को सतर्क रहकर क्षेत्र में हो रही चोरी, तथा अन्य अपराधिक गतिविधियों पर पुख्ता नजर रखकर अपराध को कम करने के लिए सक्रिय योगदान देना होगा। ताकि लोग को शांति, सम्मान और बिना भय के जीना संभव हो सके।

अतः संपादक महोदय से अनुरोध है कि "समाज में हो रही अपराधिक गतिविधि पर प्रशासन को जागरूक करने वाली" इस जानकारी को समाचार पत्र के उपयुक्त स्थान पर मुद्रित की जाए। जिसके लिए मैं आपका आभारी रहूंगा।

भवदीय
___________

अतः आज के इस लेख में हमने सिखा कि " समाज में बढ़ती अपराधिक गतिविधियों पर संपादक को पत्र " कैसे लिखा जाता है। हां, इस लेख से तो आपको इस तरह के पत्र लिखने का अंदाजा मिल गया होगा। बस! आपको यह ध्यान रखना है की जब आपको खुद के लिए पत्र लिखने की आवश्यकता हो, तो आप इसमें थोड़ी फेरबदल कर अपनी समस्याओं का वर्णन करने की आवश्यकता होगी।
     
इस लेख में बताई गई जानकारी आपको कैसी लगी वह कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं क्योंकि आप का कमेंट ही हमारा मोटिवेशन होता है और हमें इसी तरह के और भी नए-नए लेख लिखने के लिए प्रेरित करता है। धन्यवाद!

क्या आपने इस लेख को अपने दोस्तों के WhatsApp पर शेयर किया! अगर नहीं! तो अभी शेयर करें! 😃

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

Post a Comment

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post