राजगीर भ्रमण की चर्चा करते हुए अपने मित्र को पत्र लिखें - Rahgeer Bharaman Ka Warnan Karne Hetu Patra

राजगीर भ्रमण का वर्णन करते हुए पत्र, राजगीर का वर्णन पर पत्र, राजगीर में पिकनिक का वर्णन करते हुए पत्र, राजगीर की भ्रमण स्थल का वर्णन कर करते हुए पत्र

राजगीर भ्रमण की चर्चा करते हुए अपनी मित्र के पास एक पत्र लिखें।


प्रिय मित्र 
    सुभम,

मैं कुशल पूर्वक रहते हुए तुम्हारी कुशलता की कामना करता हूं। पिछले सप्ताह मैं अपने विद्यालय की ओर से भ्रमण के लिए राजगीर गया था। मैं दिनांक ......... को सभी विद्यार्थी एवं शिक्षकों के साथ राजगीर पहुंचा। हम सभी मित्रों ने एक साथ मिलकर राजगीर के अनेक महत्वपूर्ण स्थलों पर जाकर भ्रमण किया। हमने राजगीर के ऊंचे ऊंचे पहाड़ों पर चढ़कर बहुत आनंद उठाया। यहां के गर्म कुंड जिसे सीताकुंड भी कहा जाता है एवं अन्य कुंड जिसमें गर्म जल के झरने होते हैं, उसमें स्नान किया। स्नान करने के बाद हम सभी मिलकर ऊंचे पहाड़ पर बने मंदिर के दर्शन किए हैं। सूरज ढलने से पहले हम सभी वहां से अपने घरों की ओर प्रस्थान हो गए हैं। हम सभी को वहां पर काफी आनंद आया।

तुम्हारा मित्र
राकेश

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

एक टिप्पणी भेजें

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

Post a Comment (0)

और नया पुराने