पेड़-पौधों के महत्व पर निबंध | वृक्षों के महत्व पर निबंध लिखें।

हम सभी यह भली-भांति समझते हैं और जानते हैं कि आप, हम और यह पूरी दुनिया पेड़ - पौधों की अनुपस्थिति में एक क्षण भी जीवित नहीं रह सकती है। आधुनिक समय के मानव पेड़ पौधों के निरंतर कटाई से होने वाले प्रभाव एवं उत्पन्न होने वाली समस्याओं को समझते हुए भी निरंतर पेड़ पौधों की कटाई कर रहे हैं।

आधुनिक समय की मानव सभ्यता यह समझती और जानती भी है कि, पेड़ पौधों की कटाई से प्रदूषण पर नियंत्रण नहीं पाया जा सकता है। इसलिए बड़े पैमाने पर वृक्ष लगाने चाहिए। लेकिन फिर भी, वृक्षों के निरंतर कटाई हो रही है। जिनसे मानव सभ्यता के लिए कई समस्याएं उत्पन्न हो रही है।

इन्हें भी पढ़ें :

इसलिए आज के इस लेख में हम वृक्षों के महत्व अर्थात पेड़ पौधों के महत्व के बारे में निबंध लिख रहे हैं। जो छोटी कक्षा में पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए सहायक साबित हो सकती है। इस निबंध को पढ़कर बच्चों को पेड़ पौधों के महत्व बारे में जानकारी मिल पाएगी।

वृक्षों का महत्व | पेड़ - पौधों का महत्व | वृक्षों के महत्व पर निबंध | पेड़ पौधों के महत्व बताते हुए निबंध। वृक्ष लगाने का महत्व | पेड़ पौधे लगाने के महत्व पर निबंध।


वृक्षों की मौजूदगी वातावरण में स्वच्छता एवं शुद्धता का प्रतीक है। इसलिए आधुनिक युग में वृक्षों को अत्यधिक महत्व दिया जा रहा है। वृक्ष हमारे आसपास में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर वातावरण को शुद्धता तथा ऑक्सीजन प्रदान करती है, जो पृथ्वी पर मौजूद समस्त जीवधारियों के लिए प्राणवायु है। पृथ्वी पर मौजूद समस्त जीवधारी ऑक्सीजन के द्वारा ही जीवित रहते हैं। अतः जीव धारियों के जीवन को बचाए रखने में वृक्षों का महत्वपूर्ण स्थान है।


इसलिए हम कह सकते हैं कि वृक्षों के साथ प्राणियों का जीवन जुड़ा हुआ है। वृक्षों की अल्पता से जीवों के प्राण संकट में आ सकते हैं।

वर्तमान समय में बढ़ती प्रदूषण पूरे विश्व के लिए समस्या बनती जा रही है इसलिए प्रत्येक देश अपने-अपने स्तर पर प्रदूषण को कम करने का प्रयास कर रही है। जिसमें वृक्षारोपण पर अत्यधिक बल दिया जा रहा है, क्योंकि वृक्ष ही एक ऐसा माध्यम है जो वातावरण में मौजूद वायु को शुद्ध कर सकती है इसलिए वातावरण को शुद्ध करने के लिए बड़े पैमाने पर लोगों को जागरूक कराया जा रहा है तथा यह निवेदन किया जा रहा है कि अधिक से अधिक मात्रा में वृक्ष लगाए जाएं। ताकि वायु प्रदूषण को कम किया जा सके।

वर्तमान समय में बढ़ती हुई जनसंख्या भी विश्व के लिए समस्या का कारण बनती जा रही है, क्योंकि बढ़ती जनसंख्या के साथ प्रदूषण भी बढ़ता जा रहा है। जिसके कारण तरह-तरह की बीमारियां उत्पन्न हो रही है। इन बीमारियों के कारण मानव जीवन खतरे में दिखाई पड़ रही है।

इन्हें भी पढ़ें :

बढ़ती जनसंख्या के कारण वर्तमान समय में मानव द्वारा अपनी आपूर्ति के लिए बड़े पैमाने पर वृक्षों की कटाई की जा रही है। खेतों एवं खुले स्थानों पर मकान बनाए जा रहे हैं। अतः वृक्षों की कटाई निरंतर की जा रही है जिनसे वन संपदा खतरे में है एवं प्राणियों के लिए शुद्ध वायु नहीं मिल पा रहा है।


हमारी पृथ्वी और मानव जाति को इस प्रदूषण से बचाने के लिए बड़े पैमाने पर पेड़ पौधे लगाकर हम पूरे मानव जाति की सेवा कर सकते हैं। क्योंकि वृक्षों के अस्तित्व में आने से ही वातावरण शुद्ध हो सकता है, जिससे प्रदूषण में कमी आएगी।

हमारी वन संपदा हमारे लिए लाभदायक है। वनों की उपस्थिति से वातावरण ठंडा रहता है और वर्षा भी नियमित रूप से होती है। वर्षा होने से वातावरण में उपस्थित धूल मिट्टी भी धुल जाते हैं और फसलों की सिंचाई के लिए पानी की भी आपूर्ति हो जाती है, जिससे फसलों की पैदावार अच्छी होती है। वर्षा होने से हमारे नदियों में जल का स्तर बढ़ता है।

पर्वतीय क्षेत्रों में वृक्षों की अधिक कटाई से भूमि कटाव की बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हुई है। इसलिए भूमि कटाव को रोकने के लिए वृक्ष हमारी सहायता करते हैं।

यदि हमें मानव जीवन को सुखी और समृद्ध बनाना है तो, हमें वृक्ष नहीं काटने चाहिए बल्कि हमें बड़े स्तर पर वृक्ष को लगाना चाहिए। मानव जीवन को बचाने के लिए वृक्षों का महत्वपूर्ण स्थान है।

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

एक टिप्पणी भेजें

आप हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम ग्रुप ज्वाइन करें और यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें। Telegram, Youtube

Post a Comment (0)

और नया पुराने